indias-tennis-star-sumit-nagal-took-the-win-even-after-losing-to-roger-federer-mplive

रोजर फेडरर से हारकर भी दिल जीत ले गए भारत के टेनिस स्‍टार सुमित नागल

खेल, मुख्य समाचार

Updated On : August 27, 2019 ,

नई दिल्‍ली :  भारत के सुमित नागल ने इस साल के आखिरी ग्रैंड स्‍लैम यूएस ओपन की शानदार शुरुआत की. उन्‍होंने पहले सेट में रोजर फेडरर को 6-4 से हरा दिया. इससे टेनिया की दुनिया में एकबारगी तहलका मच गया. फेडरर दुनिया के तीसरे नंबर के टेनिस खिलाड़ी हैं. इसके बाद दूसरे, तीसरे राउंड और चौथे सेट में सुमित को हार का सामना करना पड़ा. दूसरे सेट में फेडरर ने समित को 6-1 और तीसरे सेट में 6-2 से हरा दिया. पहले सेट में हारने के बाद दूसरे और तीसरे सेट में रोजर फेडरर ने शानदार वापसी की. फेडरर ने दिखाया कि वे दुनिया के तीसरे नंबर के खिलाड़ी क्‍यों हैं. दो सेट हारने के बाद समित नागल ने शानदार वापसी करते हुए रोजर फेडरर को कड़ी टक्‍कर दी. हालांकि इसके बाद भी उन्‍हें 6-4 से हार का सामना करना पड़ा. मैच के बाद जब रोजर फेडरर और सुमित नागल ने हाथ मिलाया तो रोजर फेडरर ने समित के शानदार खेल के लिए उनकी पीठ थपथपाई.

इससे पहले सुमित नागल ने साल 2015 में अपने शानदार प्रदर्शन की बदौलत जूनियर विंबलडन ग्रैंड स्लैम जीता था. इसे प्रतियोगिता को जीतने वाले वे छठें भारतीय बने थे. उन्होंने वियतना के नाम हाओंग लि के साथ मिलकर विंबलडन में लड़कों के वर्ग का युगल खिताब जीता था. 1998 में महेश भूपति और लिएंडर पेस विंबलडन में खेले थे.
मूल रूप से सुमित नागल हरियाणा के झज्जर जिले के जैतपुर गांव के रहने वाले हैं. सुमित ने महज आठ वर्ष की उम्र में टेनिस खेलना शुरू कर दिया था. बताया जाता है कि सुमित के परिवार में किसी को टेनिस में रुचि नहीं थी, उनके पिता टेनिस के बारे में कुछ रुचि थी, उन्‍हीं के चलते सुमित को भी टेनिस में रुचि जागी कुछ ही दिन बाद वे भी टेनिस खेलने लगे. टेनिस में अच्‍छा खेलने के बाद अच्‍छी ट्रेनिंग के लिए उनके पिता उन्‍हें हरियाणा से दिल्‍ली ले आए और इसके बाद उनकी ट्रेनिंग शुरू हुई.
अब से करीब नौ साल पहले साल 2010 में एक टैलेंट सर्च प्रतियोगिता में सुमित चुने गए थे और इसके बाद यहीं से उनका टेनिस का करियर शुरू हो गया. बड़ी बात यह है कि सुमित के आइडियल रोजर फेडरर ही हैं, जिनके खिलाफ उन्‍होंने मुकाबला किया. अपने पसंदीदा खिलाड़ी को पहले सेट में हारने के बाद भले सुमित को हार का सामना करना पड़ा हो, लेकिन इसके बाद भी उन्‍होंने करोड़ों टेनिस प्रमियों और टेनिस सुपर स्‍टार रोजर फेडरर का दिल जीत लिया. सुमित दिग्गज टेनिस खिलाड़ी रहे महेश भूपति को अपना मेंटोर मानते हैं. सुमित कहते हैं कि भूपति मेरे मेंटोर हैं और हमेशा रहेंगे. मैं करीब 10 साल का था, तब उनकी एकेडमी में पहली बार गया था. उन्होंने मेरे खेल को निखारा. उन्होंने ही मुझे स्पॉन्सर भी किया था.

भारतीय क्रिकेट कप्‍तान विराट कोहली ने किया था विश
रोजर फेडरर से मुकाबले से पहले भारतीय क्रिकेट टीम के कप्‍तान विराट कोहली ने सुमित को विश किया था. विराट कोहली ने अपने टि्वटर और इंस्टाग्राम से सुमित नागल के लिए ट्वीट किया. विराट ने ट्वीट में लिखा है कि (congratulations to @nagalsumit for qualifying for the #USOpen. A humongous task facing the great @rogerfederer, but we will be cheering for you. Best Wishes and Goodluck) यूएस ओपन के लिए क्वॉलिफाई करने के लिए सुमित नागल बधाई. आपको महान रोजर फेडरर से मुकाबला करना है, जो मुश्किल है, लेकिन हम आपके लिए चीयर करेंगे। गुड लक और बेस्ट

Leave a Reply