digvijay-singh-reply-to-amit-shah

दिग्विजय सिंह का अमित शाह को जवाब, कहा – जनता के हक के लिए भगवान राम भी कांग्रेस के साथ

प्रदेश, मध्य प्रदेश, मुख्य समाचार

Updated at : 06 Aug 2022

Congress Protest: महंगाई और बेरोजगारी के खिलाफ कांग्रेस के देशव्यापी प्रदर्शन को लेकर बीजेपी (BJP) ने कई तरह के आरोप लगाए हैं. पहले तो बीजेपी नेता इसे ईडी कार्रवाई को दबाने की कोशिश बता रहे थे, लेकिन गृहमंत्री अमित शाह (Amit Shah) ने कांग्रेस नेताओं के काले कपड़ों को अयोध्या में बन रहे राम मंदिर से जोड़ दिया. अब कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह (Digvijay Singh) की तरफ से इसका जवाब दिया गया है. उन्होंने कहा है कि हमारी लड़ाई सरकार की जन विरोधी नीतियों के खिलाफ है. साथ ही कांग्रेस नेता ने आरएसएस का नाम लेकर भी अमित शाह को घेरने की कोशिश की.

कांग्रेस नेता ने दिया अमित शाह को जवाब
कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह की तरफ से ट्वीट किया गया कि, “महंगाई के खिलाफ कांग्रेस के सत्याग्रह से बौखलाए भाजपा नेता काले रंग को कोस रहे हैं जबकि काला रंग न्याय के देवता यानि न्यायाधीश शनि देव का रंग है और हमारी पूरी लड़ाई मोदी सरकार द्वारा अन्याय पूर्ण तरीके से लादी गई जन विरोधी नीतियों के खिलाफ है.”

अपने दूसरे ट्वीट में दिग्विजय सिंह ने कहा कि, “अमित शाह जी आपने शायद अपना राजनीतिक जीवन RSS से शुरू नहीं किया होगा नहीं तो आपको काले रंग से इतना एतराज नहीं होता. RSS का स्वयं सेवक कौन से रंग की टोपी पहनता है? काले रंग की. कुछ समझ में आया? मोदी सरकार की नीतियां रामराज्य की कल्पना से बिल्कुल विपरीत है, सरकार की अदूरदर्शिता से जनता के हाल बेहाल हैं इसीलिए भगवान राम भी जनता के हक़ की लड़ाई लड़ने वाली कांग्रेस के साथ हैं. प्रभु श्रीराम कृपा सिंधु हैं उनकी कृपा से कांग्रेस जनता को राहत दिलाकर रहेगी.”

अमित शाह ने क्या कहा था?
देश के गृहमंत्री अमित शाह ने कांग्रेस के पूरे प्रदर्शन को राम मंदिर से जोड़कर देखा. क्योंकि कांग्रेस के तमाम नेताओं ने सरकार के विरोध में काले कपड़े पहनकर विरोध किया था, ऐसे में अमित शाह ने कहा कि, “आज ही के दिन नरेंद्र मोदी जी ने श्रीरामजन्मभूमि मंदिर का शिलान्यास किया था, इसलिए कांग्रेस तुष्टिकरण के लिए ये विरोध कर रही है. ED व महंगाई तो सिर्फ बहाने हैं…कांग्रेस का असली दर्द श्री राम मंदिर का बनना है. आज तो कांग्रेस ने एक कदम और आगे बढ़ काले कपड़े पहनकर विरोध किया है.”

Leave a Reply